किसान आंदोलन का 100वां दिन, आज केएमपी एक्सप्रेसवे पर 5 घंटे नाकाबंदी करने की तैयारी

National

नई दिल्ली : किसान आंदोलन का आज शनिवार (6 मार्च) को 100वां दिन है। आज से 100 दिन पहले किसानों ने केंद्र सरकार के तीन कृषि बिल के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में दिल्ली के बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन शुरू किया था। किसान आंदोलन के 100 दिन पूरे होने पर 6 मार्च को केएमपी एक्सप्रेसवे की 5 घंटे नाकाबंदी करने की तैयारी की जा रही है। इसके साथ ही किसानों ने इस दिन काला दिन के रूप में मनाने का ऐलान किया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने यह पूरा प्लान बनाया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा है कि केएमपी एक्सप्रेसवे नाकाबंदी के अलावा दादरी, ग्रेटर नोएडा, डासना, दुहाई, बागपत पर भी जाम किया जाएगा। इस मौके पर सभी किसान काला पट्टी बांधकर सरकार के कृषि कानून का विरोध करेंगे। उन्होंने दावा किया है कि टोल प्लाजा भी फ्री किए जाएंगे।

रिपोर्ट के मुताबिक केएमपी-केजीपी एक्सप्रेसवे पर सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक नाकाबंदी के साथ धरना प्रदर्शन किया किया जाएगा। ऐसे में यहां पर आने-जाने वाले लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। हालांकि किसानों ने घोषणा की है कि सेना, पुलिस, ऐंबुलेंस, स्कूल बस, डाक-तार और फायर बिग्रेड जैसी जरूरी वाहनों को नहीं रोका जाएगा। लेकिन फिर भी किसानों के ऐलान को देखते हुए पुलिस ने दिल्ली-मथुरा नेशनल हाइवे सहिए 8 जगहों पर रूट डायवर्ट करने का ऐलान किया है।

जिन 8 जगहों पर रूट डायवर्ट किया जाएगा वो है, बाबरी मोड़, दिल्ली गेट, नेशनल हाइवे पर दुधौला मोड़, आगरा चौक, रहराना मोड़ और केएमपी-केजीपी के एक्सचेंज प्वाइंट। केएमपी पर आने वाली वाहनों को नूंह बॉर्डर पर रोका जाएगा। वहीं केजीपी से आने वाले भारी वाहनों को फरीदाबाद बॉर्डर पर रोक दिया जाएगा। इसके अलावा नेशनल हाइवे पर करमन और गदपुरी बॉर्डर पर रोके जाने की तैयारी है।

पुलिस ने केएमपी-केजीपी एक्सप्रेसवे पर नाकाबंदी के ऐलान के बाद सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रखने की पूरी तैयारी कर ली है। पुलिस ने कहा है कि धरना स्थल पर पुलिस के अलावा आरएएफ और अर्ध सैनिक बल भी तैनात रहेंगे। वहीं दंगारोधी चीजों के साथ जिला पुलिस भी मौजूद रहेगी। पुलिस इन सभी धरना स्थलों की वीडियोग्राफी भी करवाएगी।