26 हफ्ते का गर्भ गिराने की अर्जी: पीड़िता की तरफ से की गई अबॉर्शन करवाने की अपील

Karnal

hindustan1st news,करनाल : सुप्रीम कोर्ट ने 14 साल की लड़की के 26 हफ्ते के गर्भ के मामले में करनाल सिविल अस्पताल को मेडिकल बोर्ड का गठन कर जांच रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है। कोर्ट पूछा कि क्या गर्भपात हो सकता है। सुप्रीम कोर्ट इस मामले की शुक्रवार को सुनवाई करेगा।

गौरतलब है कि रिश्ते में लगने वाले भाई पर ही 14 साल की युवती को गर्भवती करने का आरोप लगा है। युवती 26 सप्ताह की गर्भवती मिली है। पुलिस ने आरोपी भाई को गिरफ्तार कर लिया है। पीड़िता की तरफ से अबॉर्शन करवाने की अपील की गई है। सदर थाने के एरिया में एक गांव में 14 साल की युवती गर्भवती मिली है।

मेडिकल रिपोर्ट में युवती 26 सप्ताह की गर्भवती है। आरोप लगाया है कि युवती के साथ गांव का ही रिश्ते में लगने वाला भाई ही दुष्कर्म करता था। युवती ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। मेडिकल बोर्ड गठित कर दिया गया है। एसपी गंगाराम पुनिया ने बताया कि पुलिस के संज्ञान में मामला आते ही आरोपी को गिरफ्तार किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि मामले में सख्त कार्रवाई की जा रही है।