बॉक्सिंग टूर्नामेंट: भारतीय महिला बॉक्सर्स 5 गोल्ड समेत 10 मेडल्स के साथ टॉप पर रहीं

Sports

खेल-जगत : भारत ने मोंटेनेग्रो एड्रिएटिक पर्ल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में भारतीय महिला बॉक्सरों ने शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने 5 गोल्ड, 3 सिल्वर और 2 ब्रॉन्ज समेत कुल 10 मेडल्स अपने नाम किए। इसकी बदौलत वुमन्स कैटेगरी में भारत टॉप पर रहा। इसी कैटेगरी में उज्बेकिस्तान 2 गोल्ड मेडल के साथ दूसरे और चेक रिपब्लिक 1 गोल्ड के साथ तीसरे स्थान पर रहा। वहीं, मेन्स कैटेगरी में भारत का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। पुरुष बॉक्सर्स सिर्फ 2 ब्रॉन्ज मेडल ही जीत सके।

विंका वुमन बॉक्सर ऑफ द टूर्नामेंट बनीं
विंका को वुमन बॉक्सर ऑफ द टूर्नामेंट के खिताब से भी नवाजा गया। विंका ने रविवार को 60 किग्रा भार वर्ग में गोल्ड जीता था। देर रात बेबीरोजिसाना चानू ने 51 किग्रा भार वर्ग और अरुंधति चौधरी ने 69 किग्रा भार वर्ग में गोल्ड अपने नाम किया। इनके अलावा टी. सनमचा चानू ने 75 किग्रा और अल्फिया पठान ने 81+ किग्रा कैटेगरी में भारत को गोल्ड दिलाया।

बेबी चानू और अरुंधति ने भारत को 2 गोल्ड दिलाए
तीन बार की खेलो इंडिया गोल्ड मेडलिस्ट अरुंधति ने यूक्रेन की मारयाना स्टोकियो को 5-0 से हराया। वहीं, इंफाल में मेरिकॉम के ट्रेनिंग एकेडमी में ट्रेनिंग करने वाली बेबी चानू ने उज्बेकिस्तान की एशियन जूनियर चैम्पियन सबिना बोबोकुलोवा करो 3-2 से हरा दिया। जबकि, 64 किग्रा वेट कैटेगरी में लकी राणा को फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। उन्हें लिया पुकिला ने 5-0 से हराया।

मेडल्स टैली में 12 मेडल्स के साथ भारत दूसरे नंबर पर
टूर्नामेंट में भारत के 19 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था। ओवरऑल मेडल्स टैली में भारत 12 मेडल्स के साथ दूसरे नंबर पर रहा। उज्बेकिस्तान पहले और यूक्रेन ने तीसरा स्थान हासिल किया। इस प्रदर्शन की बदौलत भारत को AIBA यूथ वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप की तैयारियों का भी मौका मिला। AIBA चैम्पियनशिप का आयोजन 10 अप्रैल से 24 अप्रैल के बीच पोलैंड में होगा।