महिलाओं के आत्म सम्मान को सुनिश्चित करने के लिए कटिबद्ध है सरकार : सीएम योगी

Politics

नई दिल्ली : उन्नाव जिले में दो दलित किशोरियों के संदिग्धि परिस्थितियों में मृत पाये जाने और राज्य के प्रमुख विपक्षी दलों द्वारा इस मामले में सरकार को कठघरे में खड़ा किये जाने के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं की सुरक्षा एवं उनका आत्मसम्मान सुनिश्चित करने के लिए कटिबद्ध है। मंगलवार को जारी सरकारी बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर मिशन शक्ति की प्रगति और इसके दूसरे चरण के संदर्भ में अवलोकन के बाद योगी आदित्यानाथ ने यह बात कही।

योगी ने सभी जिलों में अपर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में एक रिपोर्टिंग चौकी स्थापित करने के निर्देश दिए, जहां महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों के सम्बन्ध में सूचना दर्ज कर त्वरित कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि उन्नाव जिले के असोहा थाना इलाके के बबुरहा गांव में गत 17 फरवरी की शाम खेतों में घास लेने गयी तीन दलित किशोरियों के एक खेत में संदिग्ध अवस्था में बेसुध पाये जाने के बाद उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया था, जहां चिकित्सकों ने दो किशोरियों को मृत घोषित कर दिया था, जबकि तीसरी किशोरी को गंभीर हालत में उन्नाव अस्पताल ले जाया गया और उसे बाद में कानपुर में रेफर कर दिया गया। रोशनी की हालत में अब सुधार हो रहा है।

इस मामले को लेकर विधानसभा में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने सदन की कार्यवाही स्थगित कर चर्चा कराये जाने की मांग की और सरकार के जवाब से असंतुष्ट होकर सदन से बहिर्गमन किया। समाजवादी पार्टी तथा कांग्रेस ने भी इस मामले को लेकर सरकार पर निशाना साधा। विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट पेश किये जाने के बाद नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी और बसपा विधायक दल के नेता लालजी वर्मा तथा कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा ने बजट में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कोई प्रावधान न किये जाने का भी आरोप लगाया था।

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस
इस बीच, उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने मिशन शक्ति अभियान के दूसरे चरण की तैयारी शुरू कर दी है, जिसकी शुरुआत मुख्यमंत्री ने 26 फरवरी से किये जाने के निर्देश दिये हैं। मंगलवार को जारी सरकारी बयान के अनुसार, योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आठ मार्च, 2021 को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस है और इसके मिशन शक्ति के तहत महिला सशक्तीकरण से सम्बन्धित विभिन्न विभागीय आयोजन 26 फरवरी से ही शुरू कर दिए जाएं।

योगी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित किए गए सामुदायिक शौचालयों में महिला कर्मी की तैनाती शीघ्र की जाए। योगी ने मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना और मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना को प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश दिए। उल्लेखनीय है कि राज्य में मिशन शक्ति अभियान की शुरुआत पिछले वर्ष अक्टूबर में शारदीय नवरात्रि से की गई और यह अभियान बासंतिक नवरात्रि(अप्रैल) तक चलेगा।