डीएपी और एनपीके के बढे दाम वापस ले सरकार : कैप्टेन अजय सिंह यादव

Rewari

रेवाड़ी : पूर्व मंत्री कैप्टेन अजय सिंह यादव ने कहा कि इस मंहगाई के समय में वर्तमान सरकार की किसानों पर अत्याचार और प्रताडना जारी है। डीएपी के 50 किलोग्राम के कट्टे पर 700 रूपये की बढोतरी और एनपीके 50 किलोग्राम के कट्टे पर 615 रूपये तक की बढोतरी किसानों पर एक क्रूर प्रहार है। पूरे देश का किसान पहले से ही कृषि के तीन काले कानून के विरोध में सडकों पर बैठा हुआ है। ऐसे समय में सरकार को चाहिए कि किसानों की आय दोगुनी की जाए और स्वामीनाथन आयोग की रिर्पोट लागू की जाए। लेकिन सरकार किसानों का भला करने की बजाय उनको मंहगाई की दोहरी मार मारने में लगी हुई है।

कैप्टेन ने सरकार से इस वृद्धि को तुरंत वापस लेने की मांग की है। कैप्टेन अजय सिंह यादव ने कहा कि इस निर्दयी सरकार किसानों के पीछे हाथ धौ कर पड़ गई है। रोहतक में भी शांति पूर्वक तरीके से मुख्यमंत्री हरियाणा का विरोध कर रहे किसानों पर पुलिस प्रशासन द्वारा लाठी चार्ज किया गया। इतने दिनों से कृषि के काले कानूनों का विरोध कर रहे किसानों की भी यह सरकार सुध नहीं ले रही है। पहले इतनी सर्दी और अब गर्मी में देश का अन्नदाता खुले आसमान में रोडों पर बैठा हुआ है और भाजपा सरकार को सिर्फ चुनाव दिखाई दे रहे हैं। लेकिन अब सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। जिसकी शुरुआत इन पांच राज्यों के नतीजों से हो जाएगी।

दूसरी तरफ रेवाड़ी में व्यापारियों के साथ रोजाना हो रही लूटपाट पर प्रतिक्रिया देते हुए कैप्टेन अजय सिंह यादव ने कहा कि सरकार और पुलिस प्रशासन के ढीले रवैये के कारण शहर में व्यापारियों के साथ निरंतर वारदात बढती जा रही है। ऐसा ही एक मामला ओर सामने आया है जिसमें पंजाबी मार्केट के व्यापारी के साथ तीन बदमाशों ने पेचकस से वार कर उनका बैग लूट लिया। इस प्रकार की वारदातों से शहर में दहशत का माहौल है। यह पहली वारदात नहीं है शहर में व्यापारियों के साथ लगातार इस प्रकार की वारदात हो रही हैं। मेरी सरकार से मांग है कि पुलिस प्रशासन सख्त कदम उठाए ताकि इस प्रकार की वारदातों पर अंकुश लगाया जा सके। यादव ने खेद प्रकट किया कि जनता के खून पसीने की कमाई से शहर में लगे सीसीटीवी कैमरे काम नहीं करते। आखिर सरकार जनता के पैसे इस तरह से क्यों बर्बाद कर रही है।