DMK है हिन्दू विरोधी पार्टी, तमिल को जीवित रहना है तो हिंदुत्व को जीतना होगा : तेजस्वी सूर्या

Politics

नई दिल्ली : भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रमुख और बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या ने द्रविड़ मुनेत्र कड़गम पार्टी को हिन्दू विरोधी बताया। बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या ने एमके स्टालिन की पार्टी को हराने की जनता से अपील की। तेजस्वी सूर्या ने कहा कि डीएमके एक हिन्दू विरोधी पार्टी है और राज्य में बीजेपी ही एक ऐसी पार्टी है जो हिन्दू विरोधी नहीं है और भारत की क्षेत्रीय भाषाओं का सम्मान करती है और प्रचार करती है। तेजस्वी सूर्या ने बीजेवाईएम के राज्य सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ”DMK एक बहुत खराब, विवादास्पद विचारधारा का प्रतिनिधित्व करता है, जो हिन्दू विरोधी है। हर तमिल को गर्व है हिंदू पर। यह वह पवित्र भूमि है जिसमें देश के सबसे अधिक मंदिर हैं, तमिलनाडु का हर इंच पवित्र है, लेकिन डीएमके हिंदू विरोधी है, इसलिए हमें इसे हराना चाहिए।”

सलेम में भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने कहा, ”भारतीय जनता पार्टी एकमात्र ऐसी पार्टी है जो भारत की सभी क्षेत्रीय भाषाओं का सम्मान और प्रचार करती है। यदि तमिल को जीवित रहना है, तो हिंदुत्व को जीतना होगा। अगर कन्नड़ को जीतना है, तो हिंदुत्व को जीतना है। भाजपा तमिलनाडु और तमिल भाषा की भावना का प्रतिनिधित्व करती है।”

तेजस्वी सूर्या ने कहा, ”डीएमके के लिए परिवार पार्टी है, जबकि बीजेपी के लिए पार्टी ही परिवार है। डीएमके के हिन्दू विरोधी विचारधारा को अब कड़ी चुनौती देने का वक्त आ गया है। जब सत्ता में आते हैं तो वो हिन्दू संस्थाओं और हमारे विश्वासों पर हमला करते हैं लेकिन जब सत्ता खोने का डर सताता है तो वे फिर हिंदू वोट मांगते हैं। लेकिन अब ये तमिलनाडु में नहीं चलेगा।” रविवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी चुनावी रैली के लिए तमिलनाडु पहुंचे थे। जहां उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा था।

इस साल तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। जिसको देखते हुए बीजेपी राज्य में अपना चुनावी प्रचार करने में लग गई है। तमिलनाडु में इस साल अप्रैल या मई में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं। फिलहाल में एनडीए की सरकार है। ये सरकार AIADMK की अगुवाई में चल रही है। बीजेपी भी इस सरकार का हिस्सा है।