रामलला के भूमि पूजन पर अयोध्या की तरह सजा रोहतक

Haryana Rohtak

  • गौकर्ण धाम पर जलाए गए 11 हजार दिए, हर घर जलाए जाएंगे दिए।
  • लोगों में दिखा राममंदिर को लेकर उत्साह,नेता से लेकर व्यापारी,संत व श्रद्धालुओ में दिखा जोश

hindustan1st news,रोहतक: करीब साढ़े चार सौ सालों से विवादों में रहे राममंदिर निर्माण का उत्साह केवल अयोध्या में ही नही बल्कि रोहतक में भी देखने को मिल रहा है।आज रोहतक के गौकर्ण धाम पर 11 हजार दिए जलाकर राममंदिर निर्माण को लेकर खुशी मनाई गई। जो श्रद्धालु अयोध्या जाकर इस ऐतिहासिक पल के गवाह नही बन सके उन्होंने गौकर्ण धाम पर दिए जलाकर मंदिर निर्माण के भूमिपूजन पर योगदान दिया। हजारों श्रद्धालुओं समेत भाजपा के नेता,व्यापारी, संत और आम लोगो ने दिए जलाए। यही नही भूमिपूजन के दिन भी शहर के हर घर मे पांच दिए जलाने का आह्वान किया गया है।ग़ौरतलब है कि 5 अगस्त को रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के भूमिपूजन पर प्रधानमंत्री समेत देश के तमाम प्रतिष्टित व्यक्ति शामिल होंगे।

रामलला के भव्य मंदिर के भूमिपूजन से एक दिन पहले श्रद्धालुओं में भारी उत्साह दिखा, आज रोहतक के गौकर्ण धाम पर श्रद्धालुओं ने 11 हाजर दिए जला कर ये पर्व मनाया, इस अवसर पर नेता से लेकर व्यापारी, संत और आम लोगों का गौकर्ण धाम पर तांता लगा रहा। श्रद्धालुओं ने दिए जला कर अपनी खुशी मनाई। 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत देश के प्रतिष्टित व्यक्ति अयोध्या में रामलला के मंदिर का विधिवत भूमि पूजन करेंगें।वही रोहतक में भी रामलला के मंदिर को लेकर काफी उत्साह देखने को मिला है।जो लोग अयोध्या में इस क्षण के साक्षी नही हो पाए उन्होंने गौकर्ण धाम पर जाकर दिए जलाए ओर प्रभु राम से जल्द से जल्द मंदिर निर्माण होने का आशीर्वाद लिया।

वही दूसरी ओर पूर्व भाजपा नेता मनीष ग्रोवर का कहना है कि पूरे विश्व मे मंदिर निर्माण को लेकर चर्चा है,ओर अब राम राज्य आ चुका है और भगवान श्री राम का मंदिर सदियों के बाद बन रहा है।उन्होंने कहा कि इस वक्त सभी राजनीतिक दल चाहते है कि राम मंदिर का निर्माण हो।वही दूसरी ओर गौकर्ण धाम के महंत बाबा कपिल पूरी का कहना है कि भगवान राम के मंदिर निर्माण को लेकर लंबे समय से इंतज़ार था जो आज पूरा होने जा रहा है इसी को लेकर 11 हजार दिए जलाए गए है यही नही उन्होंने कहाँ भूमि पूजन वाले दिन भी हर घर मे 5 दिए जलाए जाएंगे।शहर के समाज सेवी राजेश जैन का भी कहना है कि करीब 5 सौ सालों तक मंदिर का विवाद रहा है लेकिन अब प्रधानमंत्री के प्रयासों से राम मंदिर का निर्माण हो रहा है जो हर्ष ओर गर्व का विषय है।